अटल भूजल योजना।

अटल भूजल योजना की शुरुआत।
अटल भूजल योजना की शुरुआत देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा भूतपूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 95 वीं जयंती पर 25 दिसंबर 2019 को हुई ।
एक भूजल प्रबंधन योजना है। इस योजना का उद्देश्य भारत के सात राज्यों में भूजल के स्तर में सुधार करना है।

अटल भूजल योजना

भारत सरकार द्वारा अटल भूजल योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के द्वारा देश के 7 जगह चुनी गई है जहाँ जल संकट बहुत ज्यादा है। संकट वाले क्षेत्रों में पानी के स्थाई समाधान के लिए सामुदायिक भागीदारी जोर दिया जाएगा।

अटल भूजल योजना का उद्देश्य
1 इस योजना के अंतर्गत जल जीवन मिशन के लिए बेहतर सोत्र स्थिरता
2 किसानों की आय को दोगुना करने के लक्ष्य में और जल उपयोग की सुविधा के लिए जनता के व्यवहार में बदलाव लाने की परिकल्पना की गई है।
3 संकट ग्रस्त जगहों पर भूजल स्तर को बढ़ाना।।
4 सभी को स्वच्छ जल उपलब्ध कराना।
5 जमीन को बंजर होने से बचाना।

अटल भूजल योजना में होने वाला खर्च
अटल भूजल योजना को शुरू करने के लिए भारत सरकार द्वारा 6000 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। जिसमें से 3000 करोड़ रुपए विश्व बैंक से ऋण के रूप में प्राप्त किए जाएंगे एवं 3000 करोड़ रुपए का भारत सरकार देगी।
राज्य को अनुदान के रूप में इस योजना के अंतर्गत राशि कीसहायता दी जाएगी।

किन राज्यों में अटल भूजल योजना शुरू की गई है
अटल भूजल योजना की शुरुआत हरियाणा, गुजरात, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान और उत्तर प्रदेश की 8353 जल संकट ग्रस्त ग्राम पंचायतों में किया जाएगा।

किन राज्यों की कितनी ग्रामपंचायत में ये योजना लागू होगी।

गुजरात के 6 जिलों के 24 ब्लॉक में 1816 ग्रामपंचायत
हरियाणा के 13 जिलों के 36 ब्लॉक में1895 ग्रामपंचायत
कर्नाटक के 14 जिलों के 41 ब्लॉक में 1199 ग्रामपंचायत
मध्य प्रदेश के 5 जिलों के 9 ब्लॉक में 678 ग्रामपंचायत
महाराष्ट्र के 13 जिलों के 35 ब्लॉक में1339 ग्रामपंचायत
राजस्थान के 17 जिलों के 22 ब्लॉक मे 876 ग्रामपंचायत
उत्तर प्रदेश के10 जिलों के 26 ब्लॉक् में 550 ग्रामपंचायत

कुल 78 जिलों के193 ब्लॉक में 8353 ग्रामपंचायत।

अटल भूजल योजना का फायदा।
अटल भुजल योजना देश में भूजल संसाधनों की दीर्घकालिक स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए एक पहल है। जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण विभाग, जल शक्ति मंत्रालय इस योजना में शामिल है।सात राज्यों में कम जल स्तर वाले ब्लॉकों में ऊपर से नीचे और नीचे से ऊपर की नीति को अपना रहा है।

इस योजना से कम जल स्तर वाली ग्रामपंचायत में जल के स्तर में सुधार आएगा।खेती के पर्याप्त जल मिलेगा जिससे उन जगह के किसानों को फायदा होगा।

Comments