भारतीय अर्थव्यवस्था एक नजर

भारतीय अर्थव्यवस्था
भारत की अर्थव्यवस्था विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। भारत क्षेत्रफल की दृष्टि से पूरे विश्व में सातवें स्थान पर है, जबकि जनसंख्या में भारत का दूसरा स्थान है ।
भारत के पास पूरे विश्व का केवल 2.4% क्षेत्रफल है जबकि विश्व की जनसंख्या के 17% भाग भारत मे रहता है।इसलिए भारत और देशों के लिए एक बड़ा बाज़ार है।

भारतीय अर्थव्यवस्था की बृद्धि दर।

आंकड़ों के अनुसार, वित्त वर्ष 2021-22 में अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 8.7 प्रतिशत रही। जबकि इस दौरान सकल घरेलू उत्पाद (GDP)135.2 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 147 लाख करोड़ रुपये हो गयी।

भारतीय अर्थव्यवस्था में तेजी का अनुमान।
सरकार देश मे उद्योग के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण बहुत तेजी से कर रही है और आर्थिक सुधारों को भी तेजी से लागू कर रही है।
भारतीय अर्थव्यवस्था के अगले दो वर्षों तक दुनिया में सबसे तेज गति से बढ़ने का अनुमान है।
भारतीय अर्थव्यवस्था 2022-23 में यह नौ फीसदी और 2023-24 में 7.1 फीसदी दर से आगे बढने का अनुमान है।
अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष  (IMF) ने विश्व की GDP की वृद्धि अनुमान पर कहा है कि वैश्विक विकास दर 2022-23 में 4.4 फीसदी और 2023-24 में 3.8 फीसदी रह सकती है।

यूक्रेन रुस विवाद का विकास दर पर पड़ेगा असर
रूस यूक्रेन विवाद के वावजूद एशियन डेवलपमेंट बैंक का अनुमान है कि 2022-23 में भारत की वृद्धि दर चीन जैसे देशों से आगे रह सकती है।इस दौरान भारत की विकास दर 7.5 फीसदी और 2023-24 में 8 फीसदी रह सकती है। इसी दौरान चीन की विकास दर पांच फीसदी और 4.3 फीसदी रहने का अनुमान है। 

एक अनुमान के मुताबिक 2022-23 में भारत की विकास दर में और भी तेजी आ सकती थी। लेकिन, रूस और यूक्रेन युद्ध की वजह से इस पर असर पड़ने की थोड़ी संभावना है।

भारत एक मजबूत अर्थव्यवस्था ---RBI

RBI का मानना है कि भारत एक मजबूत अर्थव्यवस्था है व चुनोतियों से लड़ने में सक्षम है ।रूस यूक्रेन विवाद और वैश्विक स्तर पर जारी संकट को लेकर भारत के समक्ष थोडी चुनौतियां हैं। लेकिन वित्तीय क्षेत्र की मजबूती और बेहतर निर्यात के साथ इन चुनौतियों का अच्छे से सामना कर रहा है।

भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर
2022-23  में 8 से 8.5 फीसदी रह सकती है वृद्धि दर
2023-24 में 7.1 फीसदी रह सकती है वृद्धि दर

2022-23 का अनुमान

विश्व बैंक 8.0 फीसदी
रिजर्व बैंक 7.2फीसदी
फिच रेटिंग 8.5फीसदी
मोर्गन स्टेनली 7.9फीसदी
सिटी ग्रुप 8.0फीसदी



नोट---किसी भी त्रुटि के लिए खेद है।

Comments